कुण जाणे पराया मन री रे देसी भजन लिरिक्स

ए मन री है तन री,
लगन री रे,
ए भाया मन री है तन री,
है लगन री रे,
कुण जाणे पराया मन री रे,

कुण जाणे पराया मन री रे।।



ए रात उजियाली,

संता री सभा रे,
रात उजियाली,
संतों री सभा रे,
ओ ज्यारी लिवना लागी रे,
हरी रे नाम सु रे,
ए ज्यारी सुरता लागी रे,
हरी रे नाम सु रे,
कुण जाणे पराया मन री रे।।



अरे रात अंधीयारी,

आतो ए चोरा री सभा रे,
ए ज्यारी लिवना लागी रे,
पराया धन री रे,
ओ ज्यारी लिवना लागी रे,
पराया धन री रे,
कुण जाणे पराया मन री रे।।



हरी किरवा मे रेतो रेतो,

इन जुग मे रे,
हरी किरवा मे रेतो रेतो,
इन जुग मे रे,
अरे करलो भलाई वालो,
काम तो रे,
अरे करलो भलाई वालो,
काम तो रे,
कुण जाणे पराया मन री रे।।



ओगमदास भई जातरा मेणा रे,

ज्यारी लिवना लागी रे,
अलख रा नाम सु रे,
ज्यारी लिवना लागी रे,
अलख रा नाम सु रे,
कुण जाणे पराया मन री रे।।



ए मन री है तन री,

लगन री रे,
ए भाया मन री है तन री,
है लगन री रे,
कुण जाणे पराया मन री रे,

कुण जाणे पराया मन री रे।।

स्वर – श्याम पालीवाल जी
प्रेषक – मनीष सीरवी
9640557818


इस भजन को शेयर करे:

सम्बंधित भजन भी देखें -

डम डम डम नोपत बाजे सिरे मिन्दर माय भजन लिरिक्स

डम डम डम नोपत बाजे सिरे मिन्दर माय भजन लिरिक्स

डम डम डम नोपत बाजे, सिरे मिन्दर माय, जटे बिराजे बापजी, जटे बिराजे बापजी, कोई सिद्ध जालंधर नाथ, जगत रे मायने जी, साचो है भगता रो ओतो आसरो ओ, जियो…

होयो प्रभात ढल आई मांजल रात सहेलियां सूती जागो ऐ

होयो प्रभात ढल आई मांजल रात सहेलियां सूती जागो ऐ

होयो प्रभात ढल आई मांजल रात, सहेलियां सूती जागो ऐ हां, होयों प्रभात, मारी सुरता बेगी जागो ऐ हां, होयों प्रभात।। रामैयरी ओलू आवे रे, माने नीदड़ली सतावे, मारो हियो…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे