खुशहाल करती मालामाल करती भजन लिरिक्स

खुशहाल करती,
मालामाल करती,
शेरावाली अपने,
भक्तों को निहाल करती।।

देखे – सर को झुका लो।



अम्बे रानी वरदानी,

बैठी खोल के भंडारे,
झोली ले गया भरा के,
आया चलके जो द्वारे,
नहीं टाल करती,
तत्काल करती,
शेरावाली अपने,
भक्तों को निहाल करती।।



हर दुख जाए टल,

हर मुश्किल हो हल,
झोपड़ी से हो महल,
नहीं लगे एक पल,
माँ कमाल करती,
बेमिसाल करती,
शेरावाली अपने,
भक्तों को निहाल करती।।



माँ के नाम वाला अमृत,

जो पी ले एक बार,
होगा बाल ना बांका,
चाहे बैरी हो संसार,
रक्षा आप सरल,
बन ढाल करती,
शेरावाली अपने,
भक्तों को निहाल करती।।



‘लक्खा’ लाखों के बदल डाले,

लिखे माँ ने लेख,
टाटा नगर वाले ‘शर्मा’ की,
ओर भी तो देख,
ना संभाल करती,
ना ख्याल करती,
शेरावाली अपने,
भक्तों को निहाल करती।।



खुशहाल करती,

मालामाल करती,
शेरावाली अपने,
भक्तों को निहाल करती।।

गायक – लखबीर सिंह लख्खा जी।
प्रेषक – हरिओम।
9368454723


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

मैया तेरे भरोसे मेरा परिवार है भजन लिरिक्स

मैया तेरे भरोसे मेरा परिवार है भजन लिरिक्स

मैया तेरे भरोसे मेरा परिवार है, तू ही मेरी नाव का माझी, तू ही पतवार है, मैया तेरे भरोंसे मेरा परिवार है।। तर्ज – थोड़ा सा प्यार हुआ है। देखे…

आसरो बालाजी म्हने थारो थे कष्ट निवारो भजन लिरिक्स

आसरो बालाजी म्हने थारो थे कष्ट निवारो भजन लिरिक्स

आसरो बालाजी म्हने थारो, थे कष्ट निवारो, पधारो म्हारे आंगणिये पधारो, थारी मैं बुलावा जय जय कार।। सालासर में सज्यो है दरबार, अंजनी का लाला दुखियारा दातार, थाने जो धेयावे…

ओढ़ चुनरियाँ लाल बैठी हेै दादी सजधज के भजन लिरिक्स

ओढ़ चुनरियाँ लाल बैठी हेै दादी सजधज के भजन लिरिक्स

ओढ़ चुनरियाँ लाल, बैठी हेै दादी सजधज के, बैठी है दादी सजधज के, बैठी है दादी सजधज के, देखलो दादी को दरबार, बैठी है दादी सजधज के।। बिन्दिया को रंग…

आई है जागे वाली रात वे मैं तो झूम झूम नचना लिरिक्स

आई है जागे वाली रात वे मैं तो झूम झूम नचना लिरिक्स

आई है जागे वाली रात वे, मैं तो झूम झूम नचना, घर में कराया मैंने माँ का जगराता, घर मेरे आएगी शेरावाली माता, आयी है जागे वाली रात वे, मैं…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे