कलयुग में बाबा श्याम ने वो काम किया है भजन लिरिक्स

कलयुग में बाबा श्याम ने,
वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।।

तर्ज – दुश्मन ना करे।



होता ना जिसका काम,

सारी कोशिशों के बाद,
कोशिशों के बाद,
मेरे श्याम ने खाटू से,
वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।
कलियुग में बाबा श्याम ने,
वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।।



जिस आँख से दो बूँद,

निकल आएं गर कहीं,
आएं गर कहीं,
अनमोल मोती समझ के,
स्वीकार किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।
कलियुग में बाबा श्याम ने,
वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।।



विश्वास मिलता है यहाँ,

मैं साथ हूँ तेरे,
साथ हूँ तेरे,
बेचैन मन को श्याम ने,
आराम दिया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।
कलियुग में बाबा श्याम ने,
वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।।



जो रिश्ता बन गया है,

सांस अंत तक चले,
अंत तक चले,
तूने ‘राजू’ पे बड़ा,
एहसान किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।
कलियुग में बाबा श्याम ने,
वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।।



कलयुग में बाबा श्याम ने,

वो काम किया है,
जो आया गिरते पड़ते,
उसे थाम लिया है।।

Singer – Nisha Soni


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

जाने क्या जादू कर गयो रे ओ बांके सांवरिया भजन लिरिक्स

जाने क्या जादू कर गयो रे ओ बांके सांवरिया भजन लिरिक्स

जाने क्या जादू कर गयो रे, ओ बांके सांवरिया, बांके सांवरिया, मेरे प्यारे सांवरिया, जाने क्या जादु कर गयो रे, ओ बांके सांवरिया।। तर्ज – भक्तों को दर्शन दे गई…

कोई नहीं जहाँ में धनवान मेरे जैसा भजन लिरिक्स

कोई नहीं जहाँ में धनवान मेरे जैसा भजन लिरिक्स

कोई नहीं जहाँ में, धनवान मेरे जैसा, दाता मिला गरीब को, दाता मिला गरीब को, हनुमान तेरे जैसा, कोई नही जहाँ में, धनवान मेरे जैसा।। तर्ज – चूड़ी मजा ना…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे