काहे तेरी अखियों में पानी हिंदी भजन लिरिक्स

काहे तेरी अखियों में पानी,

दोहा – जोगनिया का भेष बनाके,
तुम्हारे पुकारूँ मोहन,
रख लो लाज मेरी कान्हा,
बन गई तेरी जोगन।



काहे तेरी अखियों में पानी,

काहें तेरी अखियों में पानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
दीवानी दीवानी दीवानी,
ओ मीरा प्रेम दीवानी,
ओ मीरा कृष्ण दीवानी।।



हँस के तू पिले विष का प्याला,

हँस के तू पिले विष का प्याला,
तोहे क्या डर तोरे संग गोपाला,
तोहे क्या डर तोरे संग गोपाला,
तेरे तन की ना होगी हानि,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
दीवानी दीवानी दीवानी,
ओ मीरा प्रेम दीवानी,
ओ मीरा कृष्ण दीवानी।।



सबके लिए मैं मुरली बजाऊँ,

सबके लिए मैं मुरली बजाऊँ,
नाच नाच सारे जग को नचाऊँ,
नाच नाच सारे जग को नचाऊँ,
सिर्फ राधा नहीं मेरी रानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
दीवानी दीवानी दीवानी,
ओ मीरा प्रेम दीवानी,
ओ मीरा कृष्ण दीवानी।।



प्रीत में भक्ति जब मिल जाए,

प्रीत में भक्ति जब मिल जाए,
जग तो क्या ये सृष्टि हिल जाए,
जग तो क्या ये सृष्टि हिल जाए,
झुक जाए अभिमानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
दीवानी दीवानी दीवानी,
ओ मीरा प्रेम दीवानी,
ओ मीरा कृष्ण दीवानी।।



काहे तेरी अखियों में पानी,

काहें तेरी अखियों में पानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
कृष्ण दीवानी मीरा,
श्याम दीवानी,
दीवानी दीवानी दीवानी,
ओ मीरा प्रेम दीवानी,
ओ मीरा कृष्ण दीवानी।।

Singer & Composer: Osman Mir


2 टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें