जनम जनम का साथ हैं गुरुदेव तुम्हारा भजन लिरिक्स

जनम जनम का साथ हैं गुरुदेव तुम्हारा भजन लिरिक्स

जनम जनम का साथ हैं,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा,
अगर ना मिलते हमको सतगुरु,
लेते जनम दोबारा,
जनम जनम का साथ है,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा।।

तर्ज – जनम जनम का साथ है।



जीवन का आधार है,

तेरा एक सहारा,
अमृत सा रस देता है,
सतगुरु नाम तुम्हारा,
गुरूजी को पाके धन्य हुआ है,
घर संसार हमारा,
जनम जनम का साथ है,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा।।



जिस मन में तेरा नाम है,

सतगुरु जी भगवान,
उस प्राणी ने पा लिया,
जैसे बैकुंठ धाम,
सतगुरुजी मेरे रोम रोम ने,
तेरा नाम पुकारा,
जनम जनम का साथ है,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा।।



तेरे सिवा मेरे मन को सतगुरु,

कुछ भी रहे ना ध्यान,
हरपल तुझको ही ध्याऊँ,
दे दो ये वरदान,
किरपा से तेरी तीनो लोक में,
होता है उजियारा,
जनम जनम का साथ है,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा।।



तन मन धन सब वार दूँ,

सतगुरु जी भगवान,
सतगुरु शक्ति दो मुझे,
देकर शबद का नाम,
सतगुरुजी के चरणों में है,
बैकुंठ धाम हमारा,
जनम जनम का साथ है,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा।।



जनम जनम का साथ हैं,

गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा,
अगर ना मिलते हमको सतगुरु,
लेते जनम दोबारा,
जनम जनम का साथ है,
गुरुदेव तुम्हारा,
गुरुदेव तुम्हारा।।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें