हे शंखेश्वर पारस नाथ रखदो प्रभु मेरे सिर पर हाथ लिरिक्स

है मेरी यही प्रार्थना,
करता रहूं आराधना,
हे शंखेश्वर पारस नाथ,
रखदो प्रभु मेरे सिर पर हाथ,
हर जन्म मुझे देना साथ।।



है वीतरागी करुणाकर,

मांगु बस मैं इतना वर,
करो कृपा की अब बरसात,
रखदो प्रभु मेरे सिर पर हाथ,
हर जन्म मुझे देना साथ।।



सुबह शाम तेरा ध्यान धरु,

दीन दुखी की सेवा करू,
यही अरज है दीनानाथ,
रखदो प्रभु मेरे सिर पर हाथ,
हर जन्म मुझे देना साथ।।



जब तक है मेरा जीवन,

करता रहु तेरा सुमिरन,
“भगवन” दो ऐसी सौगात,
रखदो प्रभु मेरे सिर पर हाथ,
हर जन्म मुझे देना साथ।।



है मेरी यही प्रार्थना,

करता रहूं आराधना,
हे शंखेश्वर पारस नाथ,
रखदो प्रभु मेरे सिर पर हाथ,
हर जन्म मुझे देना साथ।।

लेखक / प्रेषक – दिलीप सिंह सिसोदिया दिलबर।
9907023365


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें