गजानन कर दो बेडा पार भजन लिरिक्स

गजानन कर दो बेडा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं,
तुम्हे मनाते हैं,
गजानन तुम्हे मनाते हैं।।



सबसे पहले तुम्हें मनावें,

सभा बीच में तुम्हें बुलावें,
सभा बीच में तुम्हें बुलावें है,
गजानन कर दो बेडा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं।।



आओ पार्वती के लाला,

मूषक वाहन सूंड सुन्दाला,
मूषक वाहन सूंड सुन्दाला,
गजानंद कर दो बेडा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं।।


भक्त जनों ने टेर लगाई,
सबने मिलकर महिमा गाई,
सबने मिलकर महिमा गाई,
गजानंद कर दो बेडा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं।।



उमापति शंकर के प्यारे,

तू भक्तों के काज सवारे,
तू भक्तों के काज सवारे,
गजानंद कर दो बेडा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं।।



लड्डू पेडा भोग लगावें,

पान सुपारी पुष्प चढावें,
पान सुपारी पुष्प चढावें,
गजानंद कर दो बेडा पार,
आज हम तुम्हे मनाते हैं।।



गजानन करदो बेडा पार,

आज हम तुम्हे मनाते हैं,
तुम्हे मनाते हैं,
गजानन तुम्हे मनाते हैं।।


3 टिप्पणी

  1. गजानन कर दो बेड़ा पार आज हम तुम्हे मनाते हैं आज हम तुम्हे मनाते हैं यह भजन बहुत सुंदर एवं बहुत सुशील है जय श्री गजानंद भगवान आप सभी के मनोकामना पुण्य करें और सब भक्तों का मनोरथ पूर्ण करें

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें