अहसान तेरा कैसे उतारे जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे

अहसान तेरा कैसे उतारे,
जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे,
जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे।।

तर्ज – सागर किनारे दिल ये।



तेरे दर पे आके जब आँख रोई,

तेरे दर पे आके जब आँख रोई,
तूने किया जो करता ना कोई,
तूने किया जो करता ना कोई,
हाथों से पोंछे आंसू हमारे,
जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे।।



मेरी ज़िन्दगी की खुशियाँ है तुमसे,

मेरी ज़िन्दगी की खुशियाँ है तुमसे,
कभी रूठना ना बाबा तू हमसे,
कभी रूठना ना बाबा तू हमसे,
निकल जाए उस पल प्राण हमारे,
जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे।।



चलते है तेरे चलते शान से बाबा,

चलते है तेरे चलते शान से बाबा,
दिया तूने ‘श्याम’ को किस्मत से ज्यादा,
दिया तूने ‘श्याम’ को किस्मत से ज्यादा,
जीवन किया है नाम तुम्हारे,
जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे।।



अहसान तेरा कैसे उतारे,

जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे,
जीते है बाबा हम तो तेरे सहारे,
ऐहसान तेरा कैसे उतारे।।

Singer – Sagorika Banerjee


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें