दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के भजन लिरिक्स

दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के,
अंगना में आऊँ बाणगंगा में नहाय के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के।।



झिलमिल सितारों की मैं चुनरी उढ़ाउंगी,

लाल लाल चूड़ी मैया हाथों में पहनाऊँगी,
मुखड़ा निहारूंगी मैं बिंदिया लगाई के,
मुखड़ा निहारूंगी मैं बिंदिया लगाई के,
अंगना में आऊँ बाणगंगा में नहाय के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के।।



फूलों की माला मैया गले पहनाऊँगी,

सोने की नथनी तोहे नाक में पहनाऊँगी,
मुखड़ा निहारूंगी मैं कजरा लगाय के,
मुखड़ा निहारूंगी मैं कजरा लगाय के,
अंगना में आऊँ बाणगंगा में नहाय के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के।।



चरणों में मैया मैं तो फूलों को बिछाऊँगी,

चरणों को धोकर मैया चरणामृत पाऊँगी,
मुखड़ा निहारूंगी मैं पलके उठाए के,
मुखड़ा निहारूंगी मैं पलके उठाए के,
अंगना में आऊँ बाणगंगा में नहाय के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के।।



घी और कपूर की मैं ज्योति जलाऊँगी,

भक्तो के संग मिलके आरती गाउंगी,
मुखड़ा निहारूंगी मैं आरती सजाए के,
मुखड़ा निहारूंगी मैं आरती सजाए के,
अंगना में आऊँ बाणगंगा में नहाय के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के।।



दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के,

दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के,
अंगना में आऊँ बाणगंगा में नहाय के,
दर्शन करुँगी मैया जम्मू में आए के।।


 

आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें