हाँ रे कोरोना आयो रे भारत मे भारी शोर मचायो रे

हाँ रे कोरोना आयो रे,
भारत मे भारी शोर मचायो रे।।



कोरोना है जोरदार और,

मोदी की है सरकार रे,
दोनों में भारी युद्ध रचायो रे,
हां रे कोरोना आयो रे,
भारत मे भारी शोर मचायो रे।।



रेल मोटर छोटी मोटी कार,

रुक गया सब व्यापार रे,
कोरोना से करे लड़ाई,
सब जोर लगायो रे
हां रे कोरोना आयो रे,
भारत मे भारी शोर मचायो रे।।



मठ मन्दिर में ताला लागा भारी,

स्वर्ग सिधाया देव अवतारी,
वेद हकीम और डॉक्टरों ने,
देश बचायो रे,
हां रे कोरोना आयो रे,
भारत मे भारी शोर मचायो रे।।



शहर बाजार सब सुना लागे,

रोड़ पर पुलिस भागे रे,
दुःखी हुआ लोग सारा,
सरनाटो छायो रे,
हां रे कोरोना आयो रे,
भारत मे भारी शोर मचायो रे।।



गोकुल स्वामी सतगुरु देवा,

कई विधि करू जी सेवा रे,
लादूदास चरण शरण मे,
भाग सरायों रे,हां रे कोरोना आयो रे,
भारत मे भारी शोर मचायो रे।।



हाँ रे कोरोना आयो रे,

भारत मे भारी शोर मचायो रे।।

गायक / प्रेषक – चम्पालाल प्रजापति।
मालासेरी डूँगरी 8947915979


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

साधुडा बिना नहीं आवडे भजन लिरिक्स

साधुडा बिना नहीं आवडे भजन लिरिक्स

साधुडा बिना नहीं आवडे, नहीं आवडे रे भई मारा नहीं आवडे, साधुड़ा बिना नही आवडे।। एक दिन साधुडा निजर भर निर्खया, एक दिन साधुडा निजर भर निर्खया, निरखत निरखत नेंण…

कटती गाया री पुकार सांभलजो बीरा भजन लिरिक्स

कटती गाया री पुकार सांभलजो बीरा भजन लिरिक्स

कटती गाया री पुकार, सांभलजो बीरा, कटती गाया री पुकार, जद सु ए गाया कट रही, धर्म ध्वजा थारी झुक गई, नीची निज़रा सु मत भाल, कटती गाया रीं पुकार।।…

साधो भाई या मन कि बदमाशी अपनी इज्जत ने धूल में मिलावे

साधो भाई या मन कि बदमाशी अपनी इज्जत ने धूल में मिलावे

साधो भाई या मन कि बदमाशी, अपनी इज्जत ने धूल में मिलावे, गणी करावे हांसी।। यो मन तो भाई तीर्थ करावे, ले जावे मथुरा काशी, यो ही मन जेल में…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे