छोड़ के दुनिया सारी आया हूँ तेरी ओर भजन लिरिक्स

छोड़ के दुनिया सारी,
आया हूँ तेरी ओर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर।।

तर्ज – सावन का महीना।



तुमसे हमारा नाता,

बरसो पुराना,
तेरा दर ही मेरा बाबा,
आखरी ठिकाना,
सौंप दी तेरे हाथों,
मैंने जीवन की डोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर।।



जो भी दिया हैं बाबा,

तुमने दिया हैं,
तेरा शुक्रिया हैं बाबा,
तेरा शुक्रिया हैं,
भजन मैं तेरे गाउँ,
होकर के भाव विभोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर।।



तेरा मेरा रिश्ता जैसे,

दिया और बाती,
तू ही कन्हैया मेरे,
सुख-दुख का साथी,
तेरे सिवा ‘गौत्तम’ को,
ना भाए कोई और,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर।।



छोड़ के दुनिया सारी,

आया हूँ तेरी ओर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर,
थाम लो मेरी बैयाँ,
मेरे साँवरिया चितचोर।।

गायक / प्रेषक – गौत्तम शर्मा।
7737828030


 

इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

तुम जो कृपा करो तो मीट जाये विपदा सारी भजन लिरिक्स

तुम जो कृपा करो तो मीट जाये विपदा सारी भजन लिरिक्स

तुम जो कृपा करो तो, मिट जाये विपदा सारी, ओ गौरी सूत गणराजा, गणनायक गजमुख धारी, तुम हो दया के सागर, क्या बात है तुम्हारी, ओ गौरी सूत गणराजा, गणनायक…

छोड़ी मैंने मेरी ज़िन्दगी तेरे भरोसे सांवरे तेरे भरोसे लिरिक्स

छोड़ी मैंने मेरी ज़िन्दगी तेरे भरोसे सांवरे तेरे भरोसे लिरिक्स

छोड़ी मैंने मेरी ज़िन्दगी, तेरे भरोसे, सांवरे तेरे भरोसे, मेरा हर ग़म मेरी हर ख़ुशी, तेरे भरोसे, ओ श्याम बाबा तेरे भरोसे।। तर्ज – तुझसे नाराज़ नहीं जिंदगी। माँगा जब…

माखन मांगे हाथों को बढ़ाएं लड्डू गोपाल भजन लिरिक्स

माखन मांगे हाथों को बढ़ाएं लड्डू गोपाल भजन लिरिक्स

माखन मांगे हाथों को बढ़ाएं, मधुर मुस्काए, जैसे हमको पास बुलाए, प्यारा प्यारा लड्डू गोपाल, छोटा सा मेरा लड्डू गोपाल।। तर्ज – पग पग दिप जलाएं। माथे मोर मुकुट है…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे