चरणों से हमको लगा लो हम गिर रहे है संभालो भजन लिरिक्स

चरणों से हमको लगा लो,
हम गिर रहे है संभालो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
बुरे कर्मो से हमको बचा लो,
चरणो से हमको लगा लो,
हम गिर रहे है संभालो।।

तर्ज – हमको हमी से चुरा लो।



हारे हुओ का सहारा हो तुम,

भटके हुओ का किनारा हो तुम,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
बुरे कर्मो से हमको बचा लो,
चरणो से हमको लगा लो,
हम गिर रहे है संभालो।।



वो सारे सपने कहाँ खो गए,

दुनिया में हम क्या से क्या हो गए,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
बुरे कर्मो से हमको बचा लो,
चरणो से हमको लगा लो,
हम गिर रहे है संभालो।।



चरणों से हटकर किधर जाएंगे,

‘संजू’ तो चौखट पे मर जाएंगे,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
बुरे कर्मो से हमको बचा लो,
चरणों से हमको लगा लो,
हम गिर रहे है संभालो।।



चरणो से हमको लगा लो,

हम गिर रहे है संभालो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
हम तुम्हारे है तुम हमारे हो,
बुरे कर्मो से हमको बचा लो,
चरणो से हमको लगा लो,
हम गिर रहे है संभालो।।

स्वर – रवि बेरीवाल जी।


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें