प्रथम पेज कृष्ण भजन छगन मगन मेरे लाल को आजा रे निंदिया आ लिरिक्स

छगन मगन मेरे लाल को आजा रे निंदिया आ लिरिक्स

छगन मगन मेरे लाल को,
आजा रे निंदिया आ,
चंचल मन घनश्याम के,
नैनन बीच समा,
आजा री निंदिया आजा,
आजा री निंदिया आ।।



जप तप पूजा पाठ सो,

विधिना दिया मोहे लाल,
सो जा कन्हैया लाड़ले,
मैया बजावे ताल,
कैसे सुलाऊँ लाल को,
धीरे धीरे लोरी गा,
छगन मगन मेरें लाल को,
आजा रे निंदिया आ।।



सोवे कन्हैया पालनो,

बांकि है छवि अभिराम,
आंगन की शोभा है मेरो,
मनमोहन घनश्याम,
आजा रे नींदिया लाल को,
मैया रही तुझको बुला,
छगन मगन मेरें लाल को,
आजा रे निंदिया आ।।



छगन मगन मेरे लाल को,

आजा रे निंदिया आ,
चंचल मन घनश्याम के,
नैनन बीच समा,
आजा री निंदिया आजा,
आजा री निंदिया आ।।

Singer – Virender Sanwra
प्रेषक – नितेश कुमार द्विवेदी
8528076338


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।