प्रथम पेज दुर्गा माँ भजन

दुर्गा माँ भजन

Durga Maa Bhajan

मात भवानी अम्बे माँ मेरी नैया भवर में है भजन लिरिक्स

0
मात भवानी अम्बे माँ, मेरी नैया भवर में है आ, तू संकट हर ले माँ, मात भवानी अम्बे रानी।। तर्ज - ढफली वाले। जब भी चला कोई लेके सफीना, तूफा...

मैया सदा मुझ पर किरपा की नजर रखना भजन लिरिक्स

0
मैया सदा मुझ पर, किरपा की नजर रखना, मैं दास तुम्हारा हूँ, इतनी तो खबर रखना, मईया सदा मुझ पर, किरपा की नजर रखना, नजर रखना नजर रखना, नजर रखना नजर...

म्हारे मनड़े री डोर दादी खींचो थारी ओर भजन लिरिक्स

0
म्हारे मनड़े री डोर, दादी खींचो थारी ओर, थासु विनती करा हां, दादी दोनों हाथा जोड़, म्हारे सिर पर हाथ फिराओ, म्हणे हिवड़े से लगाओ, म्हारी मावड़ी, म्हारें मनडे री डोर, दादी खींचो...

ज्योत जली तेरी तुझे आना पड़ेगा माता भजन लिरिक्स

1
ज्योत जली तेरी तुझे आना पड़ेगा, गरीबो के घर भी भोग खाना पड़ेगा, नही है मिश्री मेवा खिंचड़ा ही मिलेगा, गरीबो के घर भी भोग खाना पड़ेगा।। तर्ज...

किसने रचाई मेहंदी हाथो में माता भजन लिरिक्स

0
किसने रचाई मेहंदी हाथो में, तेरा किसने किया श्रृंगार, दरबार प्यारा लागे रे, तेरा किसने किया श्रृंगार, दरबार प्यारा लागे रे।। तर्ज - चूड़ी जो खनकी। लाल लाल तेरी चुनड़ियाँ, लाल...

मैया की दया जिसपे हो जाए उसकी तो फिर बात ही...

0
मैया की दया जिसपे हो जाए, उसकी तो फिर बात ही निराली, सारे झंझट दूर करे मैया, उस घर हो निशदिन ही दिवाली।। जो भी माँ के द्वारे...

आओ जी आओ मैया आज म्हारे आंगणे भजन लिरिक्स

0
आओ जी आओ मैया, आज म्हारे आंगणे, भगत बुलावे थाने आया सरसी, भगत बुलावे थाने आया सरसी, आओ जी आओ मईया, आज म्हारे आंगणे।। था बिन म्हारी कुण सुणेलो, इन मनड़े...

मेरी सुनकर करुण पुकार भवानी आएगी भजन लिरिक्स

0
मेरी सुनकर करुण पुकार, भवानी आएगी, आएगी माँ आएगी, अपना मुझे बनाएगी, मुझे पूरा है विश्वास, भवानी आएगी, मेरी सुनकर करुंण पुकार, भवानी आएगी।। जितना भी बेहाल रहूं मैं, क्यों दूजे के हाल...

माँ ऊँचे पर्वत वाली करती शेरो की सवारी भजन लिरिक्स

0
माँ ऊँचे पर्वत वाली, करती शेरो की सवारी, अम्बे माँ, घर में पधारो मेरी माँ, अम्बे माँ, घर में पधारो मेरी माँ।। तर्ज - मेरा भोला है भंडारी। तेरे नाम की...

ऊँचे पर्वत मैया का दरबार है भजन लिरिक्स

0
ऊँचे पर्वत मैया का दरबार है, भक्तों का यहाँ होता बेड़ा पार है, मेरी मैया आदभवानी जगदम्बे, इसके चरणों मे झुकता संसार है, ऊँचे पर्वत मईया का दरबार...

कृष्ण भजन लिरिक्स

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।