बोलो बोलो प्रेमियों श्याम बाबा की जय भजन लिरिक्स

बोलो बोलो प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय,
श्याम बाबा की जय,
खाटू वाले की जय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय।।



खाटू की पावन गलियों में,

गूंज रहा जयकारा,
हारे का दुनिया में भक्तो,
बाबा श्याम सहारा,
जिसका साथ निभाता बाबा,
उसकी सदा विजय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय,
श्याम बाबा की जय,
खाटू वाले की जय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय।।



जो भी खाटू आ जाये,

वो मन इच्छा फल पाये,
खाटूवाला उन भक्तो के,
सारे कष्ट मिटाये,
जो भी जय बाबा की बोले,
रहे ना कोई भय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय,
श्याम बाबा की जय,
खाटू वाले की जय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय।।



श्यामधणी के जयकारे से,

होता है मन पावन,
‘नरसी; ये खाटू वाला,
पतझड़ को कर दे सावन,
भक्तो की किस्मत का सूरज,
हो जाता उदय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय,
श्याम बाबा की जय,
खाटू वाले की जय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय।।



बोलो बोलो प्रेमियों,

श्याम बाबा की जय,
श्याम बाबा की जय,
खाटू वाले की जय,
बोलों बोलों प्रेमियों,
श्याम बाबा की जय।।

गायक – संजय पारीक जी।
प्रेषक – पण्डित रीता गौतम,
श्री श्याम सखा मण्डल खैर, अलीगढ़
9997234758


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें