भालो भलके रे मोतीड़ा चमके रामदेवजी भजन लिरिक्स

भालो भलके रे मोतीड़ा चमके,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



अरे पेहलो पेहलो परचो माता,

मैणादे ने दियो,
उपणतो दूध ढबायो जटके,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



अरे दूजो दूजो परचो पिता,

अजमालजी ने दियो,
कुंकु रा पगलिया मंडाया,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



अरे तीजो तीजो परचो बाणिया,

मोहिता ने दियो,
डुबतो री जहाज तिराई जटके,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



अरे चौथो चौथो परचो लाखू,

बिनजारा ने दियो,
मिछरी रो लूण बनायो जटके,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



अरे पांचवो तो परचो पाँचू,

पीरा ने दियो,
मक्का सु कटोरा मंगाया जटके,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



हरि रे शरणा में भाटी,

हरजी तो बोले,
पाँव पडू थे उबारो जटके,
ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।



भालो भलके रे मोतीड़ा चमके,

ओ लीला घोड़ा वाला बाबा,
थारो भालो भलके।।

गायिका – सुगना बाई।
– भजन प्रेषक –
कालूराम जी सीरवी
8123418305


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें