भक्तों के घर कभी आजा शेरावाली भजन लिरिक्स

भक्तों के घर कभी,
आजा शेरावाली,
कुटिया का मान,
बढ़ा जा शेरावाली,
भक्तो के घर कभी,
आजा शेरावाली।।



पलकों के आसन पे,

तुझको बिठाएंगे,
हलवा पूड़ी का मैया,
भोग लगाएंगे,
भाव का ये भोग,
लगा जा शेरावाली,
भक्तो के घर कभी,
आजा शेरावाली।।



इन अखियों को बस,

मैया तेरी आस है,
आएगी जरूर माता,
रानी विश्वास है,
भक्तो की आस,
पूरा जा शेरावाली,
भक्तो के घर कभी,
आजा शेरावाली।।



आजा आजा मैया,

तेरा लाड लड़ाएंगे,
‘सौरभ मधुकर’ संग,
भजन सुनाएंगे,
रिश्ता ये प्रेम का,
निभा जा शेरावाली,
भक्तो के घर कभी,
आजा शेरावाली।।



भक्तों के घर कभी,

आजा शेरावाली,
कुटिया का मान,
बढ़ा जा शेरावाली,
भक्तो के घर कभी,
आजा शेरावाली।।

गायक – सौरभ मधुकर।