भटकता डोले काहे प्राणी चला आ प्रभु की तू शरण मे भजन लिरिक्स

भटकता डोले काहे प्राणी,
भटकता डोले काहे प्राणी,
चला आ प्रभु की तू शरण मे,
संवर जाएगी ये जिंदगानी,
भटकता डोले काहे प्राणी।।



भटकता डोले काहे प्राणि,

भटकता है क्यों मोह माया मे,
ये काया तेरी आनी जानी,
भटकता डोले काहे प्राणी।।



भटकता डोले काहे प्राणि,

भटकना तेरा भक्ति पथ से,
तुझे प्रभु कृपा की है हानि,
भटकता डोले काहे प्राणी।।



भटकता डोले काहे प्राणि,

भटकने वाले दुख पाते है,
अगर बदले मन मे नादानी
भटकता डोले काहे प्राणी।।



भटकता डोले काहे प्राणि,

करो नित सुमिरन राम का रे,
रहे तेरे जीवन मे खुशहाली,
भटकता डोले काहे प्राणी।।



भटकता डोले काहे प्राणि,

चला आ शिव की तू शरण में,
संवर जाएगी ये जिंदगानी,
भटकता डोले काहे प्राणी।।


इस भजन को शेयर करे:

अन्य भजन भी देखें

फकीरा साहिब लगता प्यारा भजन लिरिक्स

फकीरा साहिब लगता प्यारा भजन लिरिक्स

फकीरा साहिब लगता प्यारा, फकीरा सायब लगता प्यारा।। घट में गंगा घट में यमुना, घट में है हरिद्वारा, घट में गंगा घट में यमुना, घट में है हरिद्वारा, घट में…

Bhajan Lover / Singer / Writer / Web Designer & Blogger.

Leave a Comment

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे