बांके बिहारी मेरे मन में बस गया रे भजन लिरिक्स

अब तो लागे सब कुछ,
नया नया रे,
बांके बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे,
कुञ्ज बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे।।



पहले कहाँ थी,

दिल में उलझन सी,
किसने बजाई,
प्यार की यह बंशी,
क्या यह हुआ ओ,
क्या यह हुआ,
जादू सा कर गया रे,
बाँके बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे।।



रात को जागू,

नीद मे सोई रहू,
किन सपनो में,
खोई खोई रहू,
फुलों का गजरा,
केसे बिखर गया रे,
बाँके बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे।।



गाँव के सारे,

जाने प्यार की बात,
मुझसे पुछे,
बेदर्दी तेरी बात,
क्या यह हुआ,
होश मेरा किधर गया रे,
बाँके बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे।।



अब तो लागे सब कुछ,

नया नया रे,
बांके बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे,
कुञ्ज बिहारी मेरे,
मन में बस गया रे।।

गायक – मयूर कोटा राजस्थान।
9785090030