बाबा जी थारी शरण म्हे आया श्याम भजन लिरिक्स

बाबा जी थारी शरण म्हे आया,
म्हाने चरणा री चाकरी दीज्यो,
थे दिलदार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।

तर्ज – बन्ना रे बागा में झुल्या।



बाबा जी आंगली म्हारी पकड़ो,

बाबा जी आंगली म्हारी पकड़ो,
थारी सेवा में जीवन देवां,
म्हे गुज़ार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।



बाबा जी म्हारी सुध राखिजो,

बाबा जी म्हारी सुध राखिजो,
थारी टाबर थासु करे है,
मनुहार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।



बाबा जी म्हरो प्रेम पहचानो,

बाबा जी म्हरो प्रेम पहचानो,
म्हारे हिवड़े में थारे प्रेम की,
झंकार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।



बाबा जी भूल चूक बीसरायज़ो,

था सू अर्ज़ी है थारी मर्ज़ी है,
पालनहार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।



बाबा जी ‘तोशी’ री बात बनाओ,

बाबा जी भक्ता री बनाओ,
कभी ‘चोखनी’ कर द्यो नैया,
म्हारी पार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।



बाबा जी थारी शरण म्हे आया,

म्हाने चरणा री चाकरी दीज्यो,
थे दिलदार साँवरा,
बाबा जी थारी शरण म्हे आया।।

Singer – Toshi Kaur


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें