आए है श्याम तेरे दर पे मोरछड़ी लहरा दो भजन लिरिक्स

आए है श्याम तेरे दर पे,
मोरछड़ी लहरा दो,
मोरछड़ी लहरा दो।।

तर्ज – भर दे रे श्याम झोली।



तूने प्रेम की बाँधी डोर है,

हम प्रेमी है पागल तुम्हारे,
चले आते खींचे हम तो,
तू करता है जब जब इशारे,
थोड़ी सी प्रेम की परिभाषा,
हमको भी सिखला दो,
आये है श्याम तेरे दर पे,
मोरछड़ी लहरा दो,
मोरछड़ी लहरा दो।।



हम तो बाबा मुश्किलों में,

याद करते तुझे हम बुलाते,
आते हो तुम मोरछड़ी को,
अपने भक्तो के सर पे घुमाते,
आज तो बाबा मोरछड़ी की,
सकलाई दिखला दो,
आये है श्याम तेरे दर पे,
मोरछड़ी लहरा दो,
मोरछड़ी लहरा दो।।



मोरछड़ी की ऐसी माया,

सारे संकट हमारे मिटाए,
वारे न्यारे हो जाते है,
जिनके सर पे ये फिर जाए,
‘चोखानी’ सर को झुकाए बैठा,
झाड़ा तो लगवा दो,
आये है श्याम तेरे दर पे,
मोरछड़ी लहरा दो,
मोरछड़ी लहरा दो।।



आए है श्याम तेरे दर पे,

मोरछड़ी लहरा दो,
मोरछड़ी लहरा दो।।

Singer – Ravi Rajasthani


आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें