आरती हो रही रे बालाजी तेरी ध्वजा लाल लहराए लिरिक्स

आरती हो रही रे बालाजी तेरी,
ध्वजा लाल लहराए।।



कौन उतारे बाला तोरी रे आरती,

कौन उतारे बाला तोरी रे आरती,
कौन ध्वजा लहराए, मंदिर में,
कौन ध्वजा लहराए, मंदिर में,
आरती हों रही रे बालाजी तेरी,
ध्वजा लाल लहराए।।



भगत उतारे बाला तोरी रे आरती,

भगत उतारे बाला तोरी रे आरती,
संत ध्वजा लहराए, मंदिर में,
संत ध्वजा लहराए, मंदिर में,
आरती हों रही रे बालाजी तेरी,
ध्वजा लाल लहराए।।



चम चम चमके देवरो थारो,

चम चम चमके देवरो थारो,
सोना रो कलश धराए, मंदिर में,
सोना रो कलश धराए, मंदिर में,
आरती हों रही रे बालाजी तेरी,
ध्वजा लाल लहराए।।



ध्वजा नारियल से होवे तू राजी,

ध्वजा नारियल से होवे तू राजी,
चूरमा रो भोग लगाए, मंदिर में,
चूरमा रो भोग लगाए, मंदिर में,
आरती हों रही रे बालाजी तेरी,
ध्वजा लाल लहराए।।



भगत के संग सब करे तेरी आरती,

भगत के संग सब करे तेरी आरती,
किरपा करो घर जाए, मंदिर में,
किरपा करो घर जाए, मंदिर में,
आरती हों रही रे बालाजी तेरी,
ध्वजा लाल लहराए।।



आरती हो रही रे बालाजी तेरी,

ध्वजा लाल लहराए।।

Singer – Ashish Sharma


१ टिप्पणी

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें