आओ गणपति म्हारे दरबार में बाबा बैठे सं भक्त इंतजार में

आओ गणपति म्हारे दरबार में,
बाबा बैठे सं भक्त इंतजार में।।



भक्तों ने दरबार सजाया,

देखो गणपत आ कं ने-2,
सब देवों संग पुजे जाते,
पहलम ध्यान लगा कं ने-2,
सब तं न्यारे बाबा परिवार में,
बाबा बैठे सं भक्त इंतजार में।।



पान चढै और फुल चढै,

तेरे मोदक सब तं न्यारे हो-2,
तुम गौरा के लाल हो बाबा,
शिव के राजदुलारे हो-2,
सब तं सिम्पल राजी ना सिंगार में,
बाबा बैठे सं भक्त इंतजार में।।



सब देवों मे अलग हो बाबा,

मोहनी सुरत भोली हो-2,
बांझन को तुं लाल देवः,
निर्धन की भरता झोली हो-2,
सुरज रोहटिया खो गया तेरे प्यार में,
बाबा बैठे सं भक्त इंतजार में।।



आओ गणपति म्हारे दरबार में,

बाबा बैठे सं भक्त इंतजार में।।

गायक – मुकेश शर्मा।
प्रेषक – प्रेषक – राकेश कुमार जी।
खरक जाटान (रोहतक)
9992976579