ओ शेरावाली माँ पहाड़ावाली माँ भजन लिरिक्स

0
1576
बार देखा गया
ओ शेरावाली माँ पहाड़ावाली माँ भजन लिरिक्स

ओ शेरावाली माँ पहाड़ावाली माँ,
ओ जोतावाली माँ ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ।।



ज्योति से तेरी माँ जग में उजाला,

ज्योति से तेरी माँ जग में उजाला,
तू ही माता वैष्णो तू ही मात ज्वाला,
ओ शेरोवाली माँ पहाड़ावाली माँ,
ओ नैनादेवी माँ ओ कैलादेवी माँ,
तेरी महिमा निराली ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ।।



ब्रम्हा ने वेदों में तुमको निहारा,

ब्रम्हा ने वेदों में तुमको निहारा,
नारद की विणा ने तुमको पुकारा,
ओ शेरोवाली माँ पहाड़ावाली माँ,
ओ वैष्णोदेवी माँ ओ काँगड़ादेवी माँ,
सारे जग की तू माली ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ।।



ध्यानु को धन्य किया भव से उबारा,

ध्यानु को धन्य किया भव से उबारा,
तारा और रुक्मणि का चमका सितारा,
ओ शेरोवाली माँ पहाड़ावाली माँ,
ओ कालीदेवी माँ ओ मनसादेवी माँ,
कोई लौटा ना खाली ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ।।



‘पागल किशन’ को कहे ये जमाना,

इस पागल को ना मैया भूलाना,
ओ शेरोवाली माँ पहाड़ावाली माँ,
ओ झंडेवाली माँ ओ शीतलादेवी माँ,
अबतो भर झोली खाली ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ।।



ओ शेरावाली माँ पहाड़ावाली माँ,

ओ जोतावाली माँ ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ,
दर पे आए सवाली ओ शेरावाली माँ।।

स्वर – विमल जी दीक्षित (पागल)।


https://youtu.be/ZwXdTDXTgos

आपको ये भजन कैसा लगा? जरूर बताए।

आपकी प्रतिक्रिया
आपका नाम