थे तो धरनी पधारया गंगा माय त्रिवेणी थाने अरज करा

थे तो धरनी पधारया गंगा माय त्रिवेणी थाने अरज करा

थे तो धरनी पधारया गंगा माय, दोहा – गंगा जमुना सरस्वती, भागीरथ रे भाव, मृत्यु लोक में गंगा लायो, तपने एकर पाँव। थे …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे