गौरा जी को ब्याहने आये है शिव जी दूल्हा बनके लिरिक्स

गौरा जी को ब्याहने आये है शिव जी दूल्हा बनके लिरिक्स

गौरा जी को ब्याहने आये है, शिव जी दूल्हा बनके, दूल्हा निराले बने है डमरू वाले, गौरा जी को ब्याहने आए है, शिव जी दूल्हा बनके।। तर्ज – भक्तों को दर्शन। गौरा जी को लगा, हल्दी चंदन का उबटन, अंग …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे