जग पालनहारा नाथ कृपा घनश्याम की लिरिक्स

जग पालनहारा नाथ कृपा घनश्याम की लिरिक्स

जग पालनहारा, नाथ कृपा घनश्याम की, आ धरती है प्रभु, भगत वत्सल भगवान की।। तर्ज – हम कथा सुनाते राम सकल। धोरा धरती मरूधर भूमि, आवे देवता इन धरती पे, अवतार लियो है, द्वारकाधीश भगवान जी, आ जन्म भूमि है, …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे