मांग कर देख लो मन में जो खास है भजन लिरिक्स

मांग कर देख लो,
मन में जो खास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है।।

तर्ज – जिंदगी हर कदम।



तेरी मोहब्बत में दम है,

गर सच्चा है प्यार तेरा,
सच मानो ये खुशियों से,
भर देंगे भण्डार तेरा,
नहीं असंभव कुछ भी है यहाँ,
तेरा मन है कहाँ,
मितला उनको यहाँ,
चरणों के जो पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है।।



जीवन के राहें कठिन,

ये आसान बना देंगे,
दे आंखो के तू आंसू,
ये मुस्कान बना देंगे
ये यारों के सच्चे यार हैं,
दिलदार हैं,
उनको मिलता यहाँ,
चरणों के जो पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है।।



इनकी ज़मी इनका गगन,

इनका दिल इनकी धड़कन,
तारें सितारे इनके है,
अग्नि जल और ठंडी पवन,
चाँद और सूरज जीवन और मरण,
ये तन मन धन,
मुझमे जो चल रही,
इनकी हर सांस है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है।।



ये करुणा के सागर है,

हम सागर के हैं मोती,
मिट जाता है अँधियारा,
जब जलती इनकी ज्योति,
मांग ‘बेधड़क’ झोली फैलाकर,
खाटू जाकर
जिसने पाया यहाँ,
उनको विश्वास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है।।



मांग कर देख लो,

मन में जो खास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है,
ऐसा क्या जो नहीं,
श्याम के पास है।।

Singer – Kumar Shanu Ji (Nanapara Dham)
Lyricist – Shri Pappu Bedhadak


आपको ये भजन कैसा लगा ? अपने विचार बताएं

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें