प्रथम पेज कृष्ण भजन जग से हारा मैं तेरी शरण आ गया भजन लिरिक्स

जग से हारा मैं तेरी शरण आ गया भजन लिरिक्स

जग से हारा मैं तेरी शरण आ गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
जग से हारा मै तेरी शरण आ गया।।



लगा रहा है मुझे जब से देखा तुझे,

मेरी तकदीर का तो ठिकाना नहीं,
जब से नजरे मिलाई पता ना चला,
जब से नजरे मिलाई पता ना चला,
कब तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
जग से हारा मै तेरी शरण आ गया।।



श्याम तेरा नाम का जाम जिसने पीया,

चढ़ गया तो फिर दिल से उतरता नहीं,
तेरे दीदार से दिल ये भरता नहीं,
तेरे दीदार से दिल ये भरता नहीं,
नशा तेरा किया तो पता ना चला,
कब तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
जग से हारा मै तेरी शरण आ गया।।



कब से भटक रहा दुनिया की नजर,

मिल गई मुझको मंजिल में तेरी डगर,
श्याम चरणों में तुझको सहारा मिला,
कब तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
जग से हारा मै तेरी शरण आ गया।।



तेरी दीवानगी का असर ये हुआ,

श्याम के नाम का जग दीवाना हुआ,
‘हिंदुस्तानी’ तेरा दीवाना हुआ,
कब तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
जग से हारा मै तेरी शरण आ गया।।



जग से हारा मैं तेरी शरण आ गया,

मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
मैं तेरा हो गया तू मेरा हो गया,
जग से हारा मै तेरी शरण आ गया।।

– गायक एवं प्रेषक –
जय बड़गुजर
7427826015


कोई टिप्पणी नही

आपको ये भजन कैसा लगा? कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इनस्टॉल कीजिये।

अपनी टिप्पणी लिखें
अपना नाम दर्ज करें

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।