सारे जग से निराली है मैया पार करती है भक्तों की नैया लिरिक्स

सारे जग से निराली है मैया पार करती है भक्तों की नैया लिरिक्स

सारे जग से निराली है मैया, पार करती है भक्तों की नैया।। तर्ज – मैं तो लाई हूँ दाने अनार के। मैया ममतामई …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे