मेरी बिगड़ी किस्मत बन जाए घुमे जो थारी मोरछड़ी

मेरी बिगड़ी किस्मत बन जाए घुमे जो थारी मोरछड़ी

मेरी बिगड़ी किस्मत बन जाए, दोहा – विपदा उसका क्या बिगाड़ेगी, जिसका श्याम सहारा, रे भक्त क्यों घबराता है, जो ना दे कोई साथ तुम्हारा। मेरी बिगड़ी किस्मत बन जाए, घुमे जो थारी मोरछड़ी, भक्तो के संकट टल जाए, घुमे …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे