घर में रागी घर में वैरागी प्रकाश माली भजन लिरिक्स

घर में रागी घर में वैरागी प्रकाश माली भजन लिरिक्स

घर में रागी घर में वैरागी, घर घर गावन वाला ओ, कलयुग री आ छाया पड़ी है कुन नुगरोने वर्जन वाला ओ जी।। गुरु मुख ग्यानी जगत में थोड़ा, मन मुख मुंड कियोड़ा रे, ग्यान गत री मत नही जाने, …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे