कुण जाने कद कुण से भेष में सांवरियो घर आ जावे लिरिक्स

कुण जाने कद कुण से भेष में सांवरियो घर आ जावे लिरिक्स

कुण जाने कद कुण से भेष में, सांवरियो घर आ जावे, घर आया को मान राखजो, भूल कोई ना हो जावे।। तर्ज – थाली भरकर लाई। वो प्राणी तो है बड़भागी, जा के घर में कोई आवे, वर्ना किने फुरसत …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे