गौरी सुत गणराज गजानन विघ्न हरण मंगल कारी लिरिक्स

गौरी सुत गणराज गजानन विघ्न हरण मंगल कारी लिरिक्स

गौरी सुत गणराज गजानन, विघ्न हरण मंगल कारी, जो नर तुमको प्रथम मनावे, जो नर तुमको प्रथम मनावे, दुविधा मिट जावे सारी, गौंरी सुत गणराज गजानन, विघ्न हरण मंगल कारी।। तर्ज – फूल तुम्हे भेजा है। प्रथम पूज्‍यनिय तू है …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे