आशाओं का हुआ खात्मा दिल की तमन्ना बनी रही लिरिक्स

आशाओं का हुआ खात्मा दिल की तमन्ना बनी रही लिरिक्स

आशाओं का हुआ खात्मा, दिल की तमन्ना बनी रही, जब परदेशी हुआ रवाना, सुंदर काया पड़ी रही।। एक पंडित जी अपने घर में, …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे