जब टुट जाता हूँ अपनों के सताने से श्याम भजन लिरिक्स

जब टुट जाता हूँ अपनों के सताने से श्याम भजन लिरिक्स

जब टुट जाता हूँ, अपनों के सताने से, मुझे बुला लिया खाटू, बाबा ने बहाने से, साँवरा करता मुझे कितना प्यार।। तर्ज – …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे