जब जब तेरी चौखट पे कोई नीर बहाता है लिरिक्स

जब जब तेरी चौखट पे कोई नीर बहाता है लिरिक्स

जब जब तेरी चौखट पे, कोई नीर बहाता है, उस प्रेम में ऐ कान्हा, तू भी बह जाता है।। तेरे मित्र सुदामा जी, …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे