छोड़ के खाटू नगरी को मेरे घर आ जाओ श्याम भजन लिरिक्स

छोड़ के खाटू नगरी को मेरे घर आ जाओ श्याम भजन लिरिक्स

छोड़ के खाटू नगरी को, मेरे घर आ जाओ श्याम, मैं निर्धन बालक हूँ तेरा, तुम मेरे घनश्याम।। तर्ज – चांदी जैसा रंग …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे