तेरी नौका में जो बैठा वो पार हो गया गुरुदेव भजन

तेरी नौका में जो बैठा, वो पार हो गया, जो लिया था-२, नाम भव से पार हो गया, तेरी नौका मे जो बैठा, वो पार हो गया।। तर्ज - मेरा...

धीरे धीरे बीती जाए उमर भव तरने का जतन तू कर

धीरे धीरे बीती जाए उमर, भव तरने का जतन तू कर, क्यो जग में भटके तू कही, क्यो दर गुरू के आता नही, धीरे धीरे बीती जाए उमर।। तर्ज...

चाहूँ न मै प्रभू माल खजाना गुरुदेव भजन लिरिक्स

चाहूँ न मै प्रभू माल खजाना, बस मुझको इतना बतलाना, भव कैसे मै तरूँगा, भव कैसे मै तरूँगा।। तर्ज - चाहूँगा मै तुझे साँझ सवेरे।दानी नही ध्यानी नही, मूरख...

सोऐ को सँत जगाऐ फिर नीँद न उसको आऐ

सोऐ को सँत जगाऐ, फिर नीँद न उसको आऐ, जो जाग के फिर सो जाऐ, उसे कोन जगाऐ, हो उसे कोन जगाऐ।। तर्ज - चिन्गारी कोई भड़के।मर मर कर...

पल पल में यह जीवन जाए हाय बृथा की बातो में

पल पल में यह जीवन जाए हाय, बृथा की बातो में, इस पल को काहे तू खोए, बृथा की बातो में।। तर्ज - रिमझिम के गीत सावन...

ऐ मेरे मन अभिमानी क्यो करता है नादानी

ऐ मेरे मन अभिमानी, क्यो करता है नादानी। तर्ज - ऐ मेरे वतन के लोगो।शेर- है तेरे भजन की बैरा, यहाँ कोई नही है किसी का, ये शुभ अवसर...

कई मर्तबा हम मर चुके है ओ मन

कई मर्तबा हम, मर चुके है ओ मन, मगर अब तो, आओ गुरू की शरण, मगर अब तो आओ, गुरू की शरण,क्यो कि, जीते हुए मरने की, कला सीखले...

भजले नाम गुरू का रे मनवा बीत रही है स्वाँसा

भजले नाम गुरू का रे मनवा, बीत रही है स्वाँसा, रात गई सुबहा आएगी, आए न तेरी स्वाँसा।। तर्ज - रुक जा रात ठहर जा रे चँदा।करले जतन...

कर भले ही तू जगत में प्राणी सब करम छूटे ना...

कर भले ही तू जगत में, प्राणी सब करम, छूटे ना भजन, कभी छूट ना भजन।। तर्ज - करवटे बदलते रहे सारी रात।आएँगी अड़चन बहुत ही, राह मे...

हरि नाम सुमरले बन्दे जीवन को सफल बनाले

हरि नाम सुमरले बन्दे, जीवन को सफल बनाले, कट जाएंगे सारे बँधन, गुरू चरणो मे मन को लगाले, हरि नाम सुमरले बन्दें, जीवन को सफल बनाले।। तर्ज - चल प्रेम...

नवरात्रि विशेष भजन

फ़िल्मी तर्ज भजन

error: कृपया प्ले स्टोर से \"भजन डायरी\" एप्प डाउनलोड करे।