माँ तेरे दरश का प्यासा हूँ तु दर्शन दे इक पल के लिये

माँ तेरे दरश का प्यासा हूँ तु दर्शन दे इक पल के लिये

माँ तेरे दरश का प्यासा हूँ, तु दर्शन दे इक पल के लिये॥ तर्ज़-आवारा हवा का झोंका हूँ माँ तेरे दरश का प्यासा हूँ, तु दर्शन दे इक पल के लिये, आया हूँ तेरे दर पे माँ, सब छोड़ के …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे