मेरे नैना छमा छम बरसे दरश हित तरसे आजा प्यारे सांवरिया

मेरे नैना छमा छम बरसे दरश हित तरसे आजा प्यारे सांवरिया

मेरे नैना छमा छम बरसे, दरश हित तरसे, तू आजा प्यारे साँवरिया।। ऋतु राज ने ली अंगड़ाई, कली कली मुसकाई, बीत चला कुसमित …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे