भटकता डोले काहे प्राणी चला आ प्रभु की तू शरण मे भजन लिरिक्स

भटकता डोले काहे प्राणी चला आ प्रभु की तू शरण मे भजन लिरिक्स

भटकता डोले काहे प्राणी, भटकता डोले काहे प्राणी, चला आ प्रभु की तू शरण मे, संवर जाएगी ये जिंदगानी, भटकता डोले काहे प्राणी।। भटकता डोले काहे प्राणि, भटकता है क्यों मोह माया मे, ये काया तेरी आनी जानी, भटकता डोले …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे