तेरे फूलों से भी प्यार तेरे काँटों से भी प्यार चित्र विचित्र जी

तेरे फूलों से भी प्यार तेरे काँटों से भी प्यार चित्र विचित्र जी

तेरे फूलों से भी प्यार, तेरे काँटों से भी प्यार, तू जो भी देना चाहें दे दे, मेरे सरकार।। चाहे सुख दे या दुःख,, चाहे खुशी दे या गम, मालिक जैसे भी रखोगे, वैसे रह लेंगें हम, चाहे काँटों के …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे