अजब है तेरी माया इसे कोई समझ ना पाया लिरिक्स

अजब है तेरी माया इसे कोई समझ ना पाया लिरिक्स

अजब है तेरी माया, दोहा – ऊँचे ऊँचे मंदिर तेरे, ऊँचा है तेरा धाम, हे कैलाश के वासी भोले, हम करते है तुझे प्रणाम। अजब है तेरी माया, इसे कोई समझ ना पाया, गजब का खेल रचाया, सबसे बड़ा है …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे