मुझे श्याम तेरा सहारा ना होता भजन लिरिक्स

मुझे श्याम तेरा सहारा ना होता भजन लिरिक्स

मुझे श्याम तेरा, सहारा ना होता, सहारा ना होता, तो दुनिया में मेरा, गुजारा ना होता।। तर्ज – सौ साल पहले। जीने को जीते थे, मगर मर मर कर जीते थे, मज़बूरी में दिन रात, मेरे रो रो कर बीते …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे