ठुमक ठुमक कर घोड़ो आवे रामदेवजी भजन लिरिक्स

ठुमक ठुमक कर घोड़ो आवे रामदेवजी भजन लिरिक्स

ठुमक ठुमक कर घोड़ो आवे, मोतिया जड़ी लगाम। दोहा – दादुर मोर पपैया बोले, कोयल गावे मल्हार, मास भादवा मायने, आवे भक्त घनेरा हजार। ठुमक ठुमक कर घोड़ो आवे, मोतिया जड़ी लगाम, ऊपर असवार बैठा, रुणिचे रा राम, मारा मेणा …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे