हो आज लक्ष्मन पड़ा निष्प्राण है भजन लिरिक्स

हो आज लक्ष्मन पड़ा निष्प्राण है भजन लिरिक्स

हो आज लक्ष्मन पड़ा निष्प्राण है पङा, निष्प्राण है पड़ा हो आज लक्ष्मन, (तर्ज :- हो आज मौसम बड़ा … फि॰ लोफर) हो …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे