आज खेलेंगे पत्तों की बाज़ी कृष्ण भजन लिरिक्स

आज खेलेंगे पत्तों की बाज़ी कृष्ण भजन लिरिक्स

आज खेलेंगे पत्तों की बाज़ी, ओ मेरा कान्हा बड़ा है मिज़ाज़ी, नटवर नागर नंदकिशोर, नटखट छलिया माखनचोर।। तर्ज – सारे जग का है …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे