कबसे खड़े है झोली पसार भजन लिरिक्स

कबसे खड़े है झोली पसार भजन लिरिक्स

कबसे खड़े है झोली पसार, क्यूँ ना सुने तू मेरी पुकार, जग रखवाला है मेरे साँवरिया, तेरा ही सहारा है मेरे साँवरिया।। तर्ज – आने से उसके आए बहार। देख लो लगी हैं, आज मंदिर मैं ये भीड़ भारी, दर्शनों …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे