प्रेम की गंगा बहाते चलो हिंदी लिरिक्स

प्रेम की गंगा बहाते चलो हिंदी लिरिक्स

प्रेम की गंगा बहाते चलो, ​ज्योत से ज्योत जगाते चलो, प्रेम की गंगा बहाते चलो, राह में आये जो दीन दुखी, सब को गले से लगाते चलो।।  कौन है ऊँचा, कौन है नीचा, सब में वो ही समाया, भेदभाव के …

पूरा भजन देखें

error: कृपया प्ले स्टोर से भजन डायरी एप्प इंस्टाल करे